Home

हिन्दी कविता- खुशी लुटाते है त्योहार(Hindi poem for kids)





उपहारों की खुश्बू लेकर
जब जब आ जाते त्योहार
त्यहारों का आना जैसे
पाना माँ का प्यार!
लेकिन सोचा तो यह जाना
सभी मनाते है त्योहार
सबको ही प्यारे लगते है
माँ की गोदी से त्योहार
जब लहलहाती है फसलें तो
खेत मनाते है त्योहार
जब लद जाते फूल फलों से
पेड़ मनाते है त्योहार
पानी से भर जाती है तब
नदियों का होता त्योहार
ठंड मे मीठी धूप खिले तो
सूरज का होता त्योहार
दिल खोलकर खुशी लुटाते
कोई हो, सब पर त्योहार
खिलखिल हंसते, खुशियाँ ला
लेकिन लगते कम त्योहार
अगर बीज इनके भी होते
खूब उगाते हम त्योहार
खुश होकर तब उड़ते जैसे
पंछी उड़ते बाँध कतार

More hindi Poems for kids