Home

हिन्दी कविता- बचपन की मिठास (Hindi poem for kids)





एक दिन बचपन की याद मे हम भी थे खोए,
न जाने कितनी बार हसे और कितनी बार थे रोए....

अभी सोच रहे हम कोई हमें बचपन लौटा दे,
या ऐसी कोई दवा ही निकल जाये जो उम्र को घटा दे......

उस समय न था कोई प्राब्लम और न था कोई टेंशन,
आज इतने बड़े बड़े प्रॉब्लम्स जिसका
ढूँढ रहे हम अब तक सल्यूशन.....

मम्मी की गोद, पापा का कंधा, उन्ही मे जन्नत था बसता,
काई छोटी छोटी यादों मे अपना बचपन था मुस्कुराता.......

पर आज कल की बदलती दुनिया
जिसमे ले नही सकते चैन की साँस,
क्या लौटा पायेगी वो मीठी यादें और बचपन की वो मिठास.....

More hindi Poems for kids