Home

हिन्दी कविता- गाँधीजी (Hindi poem for kids)





मैया मेरे लिए मॅंगा दो
छोटी धोती खड़ी की
जिसे पहन मॅ नकल करूँगा
प्यारे गाँधी बाबा की

आँखो मे चश्मा पहनूँगा
कमर घड़ी लटका लूँगा
छड़ी हाथ मे लिए हुए
मॅ जल्दी जल्दी ऑवूगा

लाखों लोग चले आएँगे
मेरे दर्शन पाने को बैठूँगा
जब बीच सभा मे
अच्छी बात सुनाने को

More hindi Poems for kids